Publish Date: Aug 01, 2014 23:04:53

गंभीर कब्ज का सामना अक्सर लोग करते हैं। यदि यह स्थाई समस्या बन जाए और उसका इलाज न कराया जाए तो यह घातक बन सकता है। कैंसर या फिर हर्निया का कारण भी बन सकता है। 
 यह बात मैक्स सुपर स्पेशलिएटी मोहाली के सर्जरी विभाग के सीनियर कंसलटेंट डा. मनमोहन सिंह बेदी ने डिफेंस सर्विसेज आफिसर्स इंस्टीट्यूट सेक्टर-36 में हेल्थ टॉक के दौरान 300 से अधिक सदस्यों को संबोधित करते हुए कही। डॉ. बेदी के मुताबिक कब्ज का रोग धीरे-धीरे बढ़ता है, विशेषकर बुजुर्गों में, मल में खून आना, आम तौर पर आंतों में ट्यूमर के कारण होता है। यदि मल त्याग की प्रक्रिया में कोई ताजा बदलाव हुआ है और कब्ज बार होने लगी है तो ये कैंसर का कारण बन सकता है।